Sunday, November 15, 2015

बस इतनी सी ख्वाहीश है.....

























मै हर उस व्यक्ती से मिलना चाहता हु, अनजाने मे जिसे मैने दु:ख दिया है,
सिख कर कुछ बातो को उनसे, अच्छी जिंदगी मै भी जीना चाहता हु,   
मै हर उस व्यक्ती से मिलना चाहता हु, अनजाने मे जिसके कारण मै खुश हुआ हु,
जानकर उसके तरीके कोकीसी अनजान को खुश मै भी करना चाहता हु,

हर उस काम को करना है मुझे, जो आसानी से ना हो सके,  
थोडा पसीना भी आयेगा शायद, थोडे हात भी लडखडायेंगे मेरे,
पर जो महत्व उन लोगो को मिला है, मुझे भी वो पाना है,
करोडो की इस दुनीया मे, पहचान मुझे भी अपनी बनानी है,

क्या होती है कडवाहट, ये भी जानना है मुझे,
क्यु इतनी ऐहमीयत है उसे, किसीसे पुछना है मुझे,
प्यार से दो-दो बाते कर, उसे अपना बनाना है मुझे,
समय के हर पहलु मे, उसका साथ भी देना है मुझे,

उस बेचैनी को सहना मै चाहता हु,
उस बात को कहना मै चाहता हु,
जैसी भी हो पर जो सोची है जिंदगी मैने,
हर हाल मे मै उसे ही जीना चाहता हु,

क्या पता ये ज्यादा है, या फिर शायद कम है,
जैसी भी हो लेकीन, इतनी सी मेरी ख्वाहीश है,     



Tuesday, November 10, 2015

#8_Punch4Inspiration_Happy Diwali



जब पुछा मैने उस दिये से, कि तुम्हारा तो जनम्‌ ही अंधेरे मे हुआ है, तुमसे क्या सिखेगा कोई ? तो जवाब कुछ ऐसा मिला की,

उजाले कि काबीलियत पर मुझे शक नही है क्युकी आंखो को महत्व उसने ही तो दिया है, लेकीन हम ये कैसे भुल जाये, की कुछ बातो को हम अकसर आंखे बंद कर के ही तो देखा करते है, उजाले की जीतनी ऐहमीयत है जिवन मे, उतनी ही शायद अंधेरे की भी है, बस यही बताने की कोशीश करता हु.....


Wishing You All A Very Happy And Prosperous दिपावली”, Stay Blessed, Stay Happy And Make Others Too.....

साल नया पर ख्वाब वही . . .

चलो मुबारक बात दे नये साल के तोंफे कि, उम्मीद नयी लेकर हम करे बात पुराने ख्वाबो कि. . . नही हुआ है पुर्न  लेकीन ख्वाब मेरा वो आज भी ...